Dard ki apni – Gulzar Shayari

gulzar

  Dard ki apni – Gulzar Shayari   Dard ki apni bhi ak adaa hai, Wo bhi sahney waalon par fidaa hai…     दर्द की अपनी भी एक अदा है, वो भी सहने वालों पर फ़िदा है.. ——————————————-   कौन कहता है कि हम झूठ नहीं बोलते एक बार खैरियत तो पूछ के देखिए … Read more

DMCA.com Protection Status