Dard ki apni – Gulzar Shayari

gulzar

  Dard ki apni – Gulzar Shayari   Dard ki apni bhi ak adaa hai, Wo bhi sahney waalon par fidaa hai…     दर्द की अपनी भी एक अदा है, वो भी सहने वालों पर फ़िदा है.. ——————————————-   कौन कहता है कि हम झूठ नहीं बोलते एक बार खैरियत तो पूछ के देखिए … Read more

Benaam sa ye dard

benam sa

  Benaam sa ye dard, thahar kyun nahi jata Jo beet gaya hai wo, guzar kyun nahi jata       बे-नाम सा ये दर्द ठहर क्यूँ नहीं जाता जो बीत गया है वो गुज़र क्यूँ नहीं जाता सब कुछ तो है क्या ढूँढती रहती हैं निगाहें क्या बात है मैं वक़्त पे घर क्यूँ … Read more

Shayari Bashir Badr Sahab Ki

Bashir Badra

Shayari Bashir Badr Sahab Ki Bashir Badr Sahab Ki Shayari mein wo maza aur wo zazba hai jo khoon tak pahoonch jata hai. Gaur farmayen   कुछ तो मजबूरियां रही होंगी, यूं कोई बेवफ़ा नहीं होता। देने वाले ने दिया सब कुछ अजब अंदाज से, सामने दुनिया पड़ी है और उठा सकते नहीं। सर झुकाओगे … Read more

DMCA.com Protection Status