Shayari Ustad Ki

— Shayari Ustad Ki —

 

Shayari Ustad Ki

हम को किस के ग़म ने मारा ये कहानी फिर सही
किस ने तोड़ा दिल हमारा ये कहानी फिर सही

मसरूर अनवर

 

 

 

कब ठहरेगा दर्द ऐ दिल कब रात बसर होगी
सुनते थे वो आएँगे सुनते थे सहर होगी

फ़ैज़ अहमद फ़ैज़

==== Shayari Ustad Ki  ====

Shayari Ustad Ki

 

 

एक वो हैं कि जिन्हें अपनी ख़ुशी ले डूबी
एक हम हैं कि जिन्हें ग़म ने उभरने न दिया

आज़ाद गुलाटी

 

Background Images Courtesy

Leave a Comment

DMCA.com Protection Status