Rahat Indori Shayari 2020

Friends today we are presenting another set of Hindi Shayari from Dr. Rahat Indori. The King of Hindi Shayari in this era. We hope you would like these Rahat Indori Shayari 2020. 

इस से पहले की हवा शोर मचाने लग जाए
मेरे “अल्लाह” मेरी ख़ाक ठिकाने लग जाए

घेरे रहते हैं खाली ख्वाब मेरी आँखों को
काश कुछ देर मुझे नींद भी आने लग जाए

साल भर ईद का रास्ता नहीं देखा जाता
वो गले मुझ से किसी और बहाने लग जाए

Rahat Indori Shayari 2020

is se pahale kee hava shor machaane lag jae
mere “allaah” meree khaak thikaane lag jae

ghere rahate hain khaalee khvaab meree aankhon ko
kaash kuchh der mujhe neend bhee aane lag jae

saal bhar eed ka raasta nahin dekha jaata
vo gale mujh se kisee aur bahaane lag jae

Best Shayari of Rahat Indori

कभी महक की तरह हम गुलों से उड़ते हैं
कभी धुएं की तरह पर्वतों से उड़ते हैं

ये केचियाँ हमें उड़ने से खाक रोकेंगी
की हम परों से नहीं हौसलों से उड़ते हैं

( Rahat Indori Shayari 2020 )

kabhee mahak kee tarah ham gulon se udate hain
kabhee dhuen kee tarah parvaton se udate hain

ye kechiyaan hamen udane se khaak rokengee
kee ham paron se nahin hausalon se udate hain

Rahat Indori Shayari 2020

 

Rahat Indori Shayari 2020
Rahat Indori Shayari 2020

 

Rahat Indori Romantic Shayari For Girlfriend

 

इश्क ने गूथें थे जो गजरे नुकीले हो गए
तेरे हाथों में तो ये कंगन भी ढीले हो गए

फूल बेचारे अकेले रह गए है शाख पर
गाँव की सब तितलियों के हाथ पीले हो गए

Romantic Shayari For Girlfriend

ishk ne goothen the jo gajare nukeele ho gae
tere haathon mein to ye kangan bhee dheele ho gae

phool bechaare akele rah gae hai shaakh par
gaanv kee sab titaliyon ke haath peele ho gae

Rahat Indori Love Shayari

उसकी कत्थई आंखों में हैं जंतर मंतर सब
चाक़ू वाक़ू, छुरियां वुरियां, ख़ंजर वंजर सब

जिस दिन से तुम रूठीं,मुझ से, रूठे रूठे हैं
चादर वादर, तकिया वकिया, बिस्तर विस्तर सब

मुझसे बिछड़ कर, वह भी कहां अब पहले जैसी है
फीके पड़ गए कपड़े वपड़े, ज़ेवर वेवर सब

Love Shayari For Girlfriend

usakee katthee aankhon mein hain jantar mantar sab
chaaqoo vaaqoo, chhuriyaan vuriyaan, khanjar vanjar sab

jis din se tum rootheen,mujh se, roothe roothe hain
chaadar vaadar, takiya vakiya, bistar vistar sab

mujhase bichhad kar, vah bhee kahaan ab pahale jaisee hai
pheeke pad gae kapade vapade, zevar vevar sab

Rahat Indori Shayari 2020

ऐसा लगता है लहू में हमको, कलम को भी डुबाना चाहिए था
अब मेरे साथ रह के तंज़ ना कर, तुझे जाना था जाना चाहिए था

मुझसे पहले वो किसी और की थी, मगर कुछ शायराना चाहिए था
चलो माना ये छोटी बात है, पर तुम्हें सब कुछ बताना चाहिए था

( Rahat Indori Shayari 2020 )

Aisa lagta hai lahu me hamko,kalam ko bhi dubana chahaiye the
Ab mere saath reh ke tanz naa kar,tujhe jana tha,jana chahaiye tha..

Mujhse pehle woh kisi aur ki thi,magar kuch shayarana chahaiye tha
Chalo mana ye chooti baat hai,par tumhe sab kuch batana chahaiye tha..

Rahat Indori Attitude Shayari 

पहले मैंने अपने दरवाजे पर खुद आवाज दी
फिर थोड़ी देर में खुद निकल कर आ गया

कुछ पानी बचा रखा था मैंने अपनी आंखों में
एक समंदर सूखे होंठ लेकर आ गया

( Rahat Indori Shayari 2020 )

pahale mainne apane daravaaje par khud aavaaj dee,
phir thodee der mein khud nikal kar aa gaya

kuchh paanee bacha rakha tha mainne apanee aankhon mein
ek samandar sookhe honth lekar aa gaya

Rahat Indori Shayari In Hindi English Fonts

अब अपने रूह के छालों का कुछ हिसाब करूं
मैं चाहता था कि चिरागों को आफताब करूं….

बूतो से अगर मुझको इजाजत कभी मिल जाए तो
शहर भर के खुदाओ को बेनकाब करूं

( Rahat Indori Shayari 2020 )

ab apane rooh ke chhaalon ka kuchh hisaab karoon
main chaahata tha ki chiraagon ko aaftaab karoon….

booto se agar mujhako ijaajat kabhee mil jaye
to shahar bhar ke khudao ko benakaab karoon

Rahat Indori Shayari On Life

नए सफ़र का नया इंतज़ाम कह देंगे
हवा को धुप, चरागों को शाम कह देंगे

किसी से हाथ भी छुप कर मिलाइए
वरना इसे भी मौलवी साहब हराम कह देंगे

( Rahat Indori Shayari 2020 )

nae safar ka naya intazaam kah denge
hava ko dhup, charaagon ko shaam kah denge

kisee se haath bhee chhup kar milaie
varana ise bhee maulavee saahab haraam kah denge

Rahat Indori Attitude Shayari For Boys

इन्तेज़ामात नए सिरे से संभाले जाएँ
जितने कमजर्फ हैं महफ़िल से निकाले जाएँ

मेरा घर आग की लपटों में छुपा हैं लेकिन
जब मज़ा हैं, तेरे आँगन में उजाला जाएँ

intezaamaat nae sire se sambhaale jaen
jitane kamajarph hain mahafil se nikaale jaen

mera ghar aag kee lapaton mein chhupa hain lekin
jab maza hain, tere aangan mein ujaala jaen

Rahat Indori Love Shayari For Boys

जागने की भी, जगाने की भी, आदत हो जाए
काश तुझको किसी शायर से मोहब्बत हो जाए

दूर हम कितने दिन से हैं, ये कभी गौर किया
फिर न कहना जो अमानत में खयानत हो जाए

सूरज, सितारे, चाँद मेरे साथ में रहें
जब तक तुम्हारे हाथ मेरे हाथ में रहें

शाखों से टूट जाए वो पत्ते नहीं हैं हम
आंधी से कोई कह दे की औकात में रहें

( Rahat Indori Shayari 2020 )

jaagane kee bhee, jagaane kee bhee, aadat ho jae
kaash tujhako kisee shaayar se mohabbat ho jae

door ham kitane din se hain, ye kabhee gaur kiya
phir na kahana jo amaanat mein khayaanat ho jae

sooraj, sitaare, chaand mere saath mein rahen
jab tak tumhaare haath mere haath mein rahen

shaakhon se toot jae vo patte nahin hain ham
aandhee se koee kah de kee aukaat mein rahen

That’s all for today’s  Rahat Indori Shayari 2020, Please don’t forget to bookmark us for the best Hindi Shayaris.

 

Leave a Comment

DMCA.com Protection Status